Preamble Of Constitution Of India In Hindi | भारतीय संविधान की प्रस्तावना

Hello Readers!!! You are highly welcomed on our website to read about Preamble Of India In Hindi / भारतीय संविधान की प्रस्तावना हिंदी में on our informational website Famous Hindi Poems.

Famous Hindi Poems सूचना वेबसाइट पर हिंदी में Preamble Of Constitution Of India In Hindi के बारे में पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट पर आपका बहुत स्वागत है। नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम Altaf Hassan और आज की पोस्ट में, आप भारतीय संविधान की प्रस्तावना पढ़ेंगे ।

Preamble Of India भारतीय संविधान का सबसे महत्वपूर्ण और मुख्य हिस्सा है। भारतीय संविधान का संपूर्ण सार इस प्रस्तावना में निहित है।

What is the Preamble of Indian In Hindi Constitution? भारतीय संविधान की प्रस्तावना क्या है

Preamble (प्रस्तावना) को भारतीय संघटन का परिचय पत्र कहा जाता है। यह 1976 में 42 वें संवैधानिक संशोधन अधिनियम द्वारा उपांतरित किया गया था, जिसमें तीन नए शब्द समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष और अखंडता को जोड़ा गया था। प्रस्तावना भारत के सभी नागरिकों के लिए न्याय, स्वतंत्रता, समानता को सुरक्षित करती है और लोगों में भाईचारे को बढ़ावा देती है।

भारतीय संविधान की प्रस्तावना जवाहरलाल नेहरू द्वारा शुरू किए गए ‘उद्देश्य संकल्प’ पर स्थापित है। प्रस्तावना को सब से पहले अमेरिकी संविधान में शामिल किया गया था, जिसके बाद कई देशों ने इसे अपनाया है। संविधान विशेषज्ञ नानी पालकीवाला ने संविधान की प्रस्तावना को संविधान का परिचय पत्र कहा है।

भारतीय संविधान की प्रस्तावना | Preamble of Indian Constitution In Hindi

Preamble Of India In Hindi

हम, भारत के लोग,
भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न समाजवादी
पंथनिरपेक्ष लोकतंत्रात्मक गणराज्य, बनाने के लिए,
तथा उसके समस्त नागरिकों कोः
सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक न्याय, विचार,
अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता,
प्रतिष्ठा और अवसर की समता, प्राप्त कराने के लिए,
तथा उन सब में,
व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखण्डता,
सुनिश्चित करने वाली बन्धुता बढ़ाने के लिए
दृढसंकल्प होकर अपनी संविधान सभा में आज तारीख
26 नवम्बर 1949 ई. (मिति मार्गशीर्ष शुक्ल सप्तमी, संवत
दो हजार छह विक्रमी) को एतद्द्वारा इस संविधान को
अंगीकृत, अधिनियमित और आत्मार्पित करते हैं।

Official Link:- Preamble Of India

Preamble of Indian Constitution In English

WE, THE PEOPLE OF INDIA,
having solemnly resolved to constitute India
into a SOVEREIGN SOCIALIST SECULAR DEMOCRATIC
REPUBLIC and to secure to all its citizens:
JUSTICE, social, economic, and political;
LIBERTY of thought, expression, belief, faith, and worship;
EQUALITY of status and of opportunity;
and to promote among them all
FRATERNITY assuring the dignity of the individual and
the unity and integrity of the Nation;
IN OUR CONSTITUENT ASSEMBLY this 26th day of
November 1949, do HEREBY ADOPT, ENACT AND GIVE
TO OURSELVES THIS CONSTITUTION

Official Link:- Preamble Of India

प्रस्तावना के मूल शब्दों की विवेचन इस प्रकार है –

  • संप्रभु ( Sovereign ) – लोगों को आंतरिक और साथ ही बाहरी मामलों पर निर्णय लेने का सर्वोच्च अधिकार है। कोई भी बाहरी शक्ति भारत सरकार को निर्देशित नहीं कर सकती।
  • समाजवादी ( Socialist ) – धन सामाजिक रूप से उत्पन्न होता है और इसे समाज द्वारा समान रूप से साझा किया जाना चाहिए। सरकार को सामाजिक-आर्थिक असमानताओं को कम करने के लिए भूमि और उद्योग के स्वामित्व को विनियमित करना चाहिए।
  • धर्मनिरपेक्ष ( Secular ) – नागरिकों को किसी भी धर्म का पालन करने की पूरी स्वतंत्रता है। लेकिन कोई आधिकारिक धर्म नहीं है। सरकार सभी धार्मिक विश्वासों और प्रथाओं को समान सम्मान के साथ मानती है।
  • लोकतांत्रिक ( Democratic ) – सरकार का एक रूप जहां लोग समान राजनीतिक अधिकारों का आनंद लेते हैं, अपने शासकों का चुनाव करते हैं, और उन्हें जवाबदेह ठहराते हैं।
  • गणतंत्र ( Republic ) – राज्य का प्रमुख एक निर्वाचित व्यक्ति होता है न कि वंशानुगत स्थिति।
  • न्याय ( Justice ) – जाति, धर्म और लिंग के आधार पर नागरिकों के साथ भेदभाव नहीं किया जा सकता है। सामाजिक विषमताओं को कम करना होगा।
  • लिबर्टी ( Liberty ) – नागरिकों पर कोई अनुचित प्रतिबंध नहीं है कि वे क्या सोचते हैं, कैसे वे अपने विचारों को व्यक्त करना चाहते हैं और जिस तरह से वे कार्रवाई में अपने विचारों का पालन करना चाहते हैं।
  • समानता ( Equality ) – कानून के समक्ष सभी समान हैं। सरकार को सभी के लिए समान अवसर सुनिश्चित करना चाहिए।
  • बंधुत्व ( Fraternity ) – हम सभी को ऐसा व्यवहार करना चाहिए जैसे कि हम एक ही परिवार के सदस्य हैं। साथी नागरिक को किसी के साथ हीन व्यवहार नहीं करना चाहिए।

Questions & Answers Related With Preamble Of India In Hindi

Q1. भारतीय संविधान की प्रस्तावना ( preamble of india ) का प्रस्ताव किस के द्वारा पेश किया गया था ?

Ans. भारतीय संविधान की प्रस्तावना का प्रस्ताव पंडित जवाहर लाल नेहरू जी के द्वारा पेश किया गया था। यह प्रस्ताव 13 दिसंबर 1946 को लाया गया था। तथा संविधान सभा ने इस प्रस्ताव को 22 जनवरी 1947 को स्वीकार कर लिया।

Q2. संविधान की कुंजी किसे कहा जाता है ?

Ans. भारतीय संविधान की प्रस्तावना को कहा जाता है।

Q3. “समाजवादी, पंथनिरपेक्ष और अखंडता” शब्दों को किस संविधान संशोधन द्वारा भारत की प्रस्तावना में जोड़ा गया ?

Ans. 42वें संविधान संशोधन अधिनियम, 1976 ई.

Q4. भारत की प्रस्तावना की भाषा किस देश के संविधान से ली गई है ?

Ans. ऑस्ट्रेलिया

Q5. भारतीय संविधान की प्रस्तावना का विचार किस देश के संविधान से लिया गया है ?

Ans. अमेरिका

Q6. भारतीय संविधान का उद्देश्य बताने वाले वे शब्द कौन से हैं जो भारत की प्रस्तावना में लिखे हुए हैं ?

Ans. भारत की प्रस्तावना में लिखे हुए वे शब्द, जो भारतीय संविधान का उद्देश्य बताते हैं।

  • न्याय
  • स्वतंत्रता
  • समता
  • गरिमा
  • एकता
  • अखंडता
  • बंधुता

Q7. संविधान दिवस कब मनाया जाता है ?

Ans. 26 नवंबर

Preamble Of India In Hindi अंतिम शब्द।

तो, आज के लिए बस इतना ही। उपरोक्त (Preamble Of India In Hindi) / भारतीय संविधान की प्रस्तावना पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।

अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी तो अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर करें। अगर आप हमारे लिए लिखना चाहते हैं तो हमसे Contact Us Page पर संपर्क करें या नीचे Comment करें। प्रसिद्ध लोगों की प्रसिद्ध कविताएं, दोहे, उद्धरण पढ़ने के लिए, आप हमेशा हमारी website Famous Hindi Poems से जुड़े रहिए ।

Buy EBooks –

Also Read Our Other Articles

Leave a Comment

Copy link
Powered by Social Snap